"Mere seene mein nahi toh tere seene mein sahi,
Ho kahi bhi aag, lekin aag jalni chahiye."

- Dushyant Kumar

"मेरे सीने में नहीं तो तेरे सीने में सही,
हो कहीं भी आग, लेकिन आग जलनी चाहिए."

- दुष्यंत कुमार

Enter Site